लेखक औरी कवि लोगन से निहोरा

कवनो समाज के बिकास में ओकरा लेखकन / कवि / कलाकारन के बहुत बड़ जोगदान होला आउर भोजपुरी लोक साहित्य के बिकास में उनकर योगदान केहू से छिपल नइखे। हम भोजपुरी साहित्य सरिता के ओरी से राउर लोगन से निहोरा करत बानी कि राउर सभे आपन रचना भेजीं ताकि ऊ सबका सोझा राखल जा सके। राउर आपन कबिता, कहनी , लघुकथा भा साहित्य के केवनो बिधा होखे भेजीं। ई हमनी के अहोभाग रही कि ओके छाप सकीं जा। रचना भेजे के बेरा ए बातन के खियाल राखे के किरिपा करीं…

Read More