स्मृति शेष (विशेष)

परम पूज्य महामना मदन मोहन मालवीय जी एक युग महापुरुष रहनै। 25 दिसंबर 1861 ई0 में पंडित ब्रजनाथ आउर श्रीमती मुन्ना देवी के बेटा के रूप में जन्म लेहनै । ब्रजनाथ व्यास जी के पवित्र आउर  सात्विक गुड़न क भरपूर प्रभाव मदन मोहन मालवीय जी में बचपने  से दिखाए लगल । घर में प्रारंभिक शिक्षा के बाद उनके पंडित हरदेव जी के धर्म ज्ञानोपदेश पाठशाला मे भेजल गयल। पंडित जी अपने शिष्यन के अपने बचवा जैसे मानै। दूध पियावै अउर कसरत करावै । कुश्ती भी लड़वावै । उनकर इहे ध्येय…

Read More

अथक लड़ाई आउर धीरज के परीक्षा लेत भोजपुरी भाषा

अपना देश भारत मे हिन्दी के बाद सबसे जियादा लोगिन के मातृभाषा भोजपुरी कई दशक से अपने अस्तित्व के लड़ाई लड़ रहल बिया । चालीस के दशक से जवने भाषा के मान्यता के आवाज उठ रहल बा आउर ओकरे अस्तित्व के अनदेखी हो रहल बा , उहो एगो मिशाले बा । भोजपुरी भाषा के जनम आउर ओकर इतिहास 1000 बरिस से ढेर पुराना ह । एकर समय समय पर प्रमान सरकार के दीहल जा चुकल बा , बाकि हर बेरी कवनो – कवनो बहाना से मान्यता के बाधित कइल गइल…

Read More

आपन बात

आजू के भागमभाग दौर में भोजपुरी के पत्र-पत्रिका चलावल कवनो खेल ना ह. आज जब पठनीयता कम भइल जात बा आ लोग आभासी दुनिया में आकंठ डूबल जा रहल बा एह बीचे आपन उहे आभासी मंच पर उपस्थिति दर्ज करावल उहो, नियमित रूप से कवनो ठठ्ठा बात ना कहल जाई. ‘भोजपुरी साहित्य सरिता’ लगातार एह दिसाई आपन प्रासंगकिता बनवले बा. बहुत थोडके समय में बहुत साहित्यकार लोगन के एगो लमहर जमात खड़ा में जहवां उ सफल बा उहें रोज –ब- रोज नया कलमकार के देश-विदेश से खोजे में सफलो भइल…

Read More

8 वां भोजपुरिया स्वाभिमान सम्मेलन पंजावर में सम्पन्न भइल

नई दिल्ली। देश के पहिला राष्ट्रपति आ भोजपुरिया माटी के आन-बान-शान के परतीक देशरत्न डॉ० राजेन्द्र प्रसाद के जयंती के दिन आखर परिवार के ओरी से भोजपुरिया स्वाभिमान दिवस मनावल गइल । सीवान के रघुनाथपुर प्रखण्ड के पंजवार गाँव में आयोजित एह आठवाँ स्वाभिमान सम्मेलन के उदघाटन बिहार पुलिस के महानिदेशक श्री गुप्तेश्वर पांडे जी कइले । उहाँ के भोजपुरी भाषा, साहित्य व संस्कृति के खातिर लोगन के श्रद्धा प्रेम के बड़ाई कईनी । आपन बात राखत श्री पांडे जी बिहार सरकार के शराबबंदी, बाल विवाह आ दहेज के खिलाफ चलावल अभियानन के समर्थन…

Read More

जिनिगी के खेवईया

गते गते बितता समइया हो रमइया कहिया कहब बबुआ जिनिगी के उहे बा खेवईया हो रमइया कहिया कहब बबुआ ।। गोदिया में जननी के सरग समाइल अंगुरी के पोर रोज रोज पकड़ाइल बाबूजी से बड़ ना सहईया हो रमइया कहिया कहब बबुआ ।। जाहि दिन मेहरी से तन लटपटाइल ओही दिन जिनिगी के मकसद बुझाइल खुश भइले सृष्टि के रचईया हो रमइया कहिया कहब बबुआ ।। आव ए सुभाष आस तोहरे बा लागल बोल बतियाव तनि बनल बानी पागल हाथ जोर कहेले कन्हईया हो रमइया कहिया कहब बबुआ ।। गते…

Read More

संस्कार भारती ग़ाज़ियाबाद के काव्य गोष्ठी सम्पन्न

फतनपुर प्रतापगढ़ से आइल कवि डॉक्टर कैलाश नाथ मिश्र जी के सम्मान में संस्कार भारती ग़ाज़ियाबाद एगो शानदार काव्य गोष्ठी का आयोजन एच-४९,प्रताप विहार में कइलस l संस्कार भारती मेरठ प्रांत के साहित्य विधा प्रमुख श्री चंद्रभानु मिश्र के संयोजन आ वरिष्ठ शायर सुरेन्द्र शर्मा जी के संचालन में बहुते शानदार आयोजन रहल l कार्यक्रम में श्री कैलाश नाथ मिश्र जी के सम्मानित कइल गइलl कैलाश नाथ मिश्र जी के अध्यक्षता में कई गो कवि लोग सुंदर काव्य पाठ कइलन जवना मे वरिष्ठ कवि मोहन द्विवेदी जी,गीतकार सतीश सार्थक जी,कवि…

Read More

गीत

फाटि गइल खेत जइसे फूट-कंकरी असों फेर पड़े झूर झंखे गांव-नगरी। डांड़ पड़े खाद-बीया खेत के मजूरिया रेट-पोत टेकटर भाड़ा महसूलिया धान कहे कौन सूखे ज्वार-बजरी।असों0 आज के त नाहीं बाटे काल्ह के फिकिरिया बुचिया का संग के सहेली लरकोरिया कइसे होई जुटी कइसे डाल – दउरी ।असों0 आधा छोंड़ चउरा मे कुल्हिये इजतिया हीत-नात दसमी- देवाली डाला छठिया किस्त फेल बैंक मांगे लोन जबरी।असों0 –आनन्द संधिदूत

Read More

सब बदल गईल बा

हर लोग बदल गईल बा व्यवहार बदल गईल बा, नईखे बांचल मेलमिलाप हर राज बदल गईल बा।। धोखा से भरल हर रास्ता छल से भरल हर रात, अन्हार लउके दिन में अंजोर भईल हर रात।। हर शब्द बिखर गईल बा हर छन्द बिखर गईल बा, कतहीं मेल ना लउके यार हर गीत बदल गईल बा।। खान बदलल पान बदलल रहे के दलान बदल गईल बा, मान बदलल जहान बदलल सब अरमान बदल गईल बा।। नीति बदल गईल बा राजनीति बदल गईल बा, आंगन के स्वरुप बदलल बाबू के जोड़ल भीत…

Read More

नन्हका के संगे

अगिली में पछिली में बरखा में बिछिली में बनल जाव बचना , नन्हका के संगे ।।   बबुआ दुलारे में कजरा लिलारे में खनक गइल कंगना , नन्हका के संगे ।।   कबों जाला मुसकाय फेर धूरि सउनाय सजल मोर अंगना, नन्हका के संगे ।।   बेर बेर दुलराय आइ गरे लिपटाय सफल ईस रचना , नन्हका के संगे ।। झूमल मोर सजना , नन्हका के संगे ।।   जयशंकर प्रसाद द्विवेदी

Read More

पुराना बस अड्डा व्यापार मण्डल के चुनाव सम्पन्न भइल

पुराना बस अड्डा व्यापार मण्डल के साधारण सभा के बैठक भइल । जवने मे व्यापार मण्डल के मुख्य तीन पदाधिकारियन अध्यक्ष श्री विवेक गोयल , महामंत्री खाति मो इमरान कुरैसी आ कोषाध्यक्ष ला श्री रवि जान के चुनाव कइल गइल । फेर साधारण सभा सर्व सम्मति से एह तीनों जना के आपन कार्यकारणी गठित करे के अधिकार दे दीहलस । 2-3 दिन मे पूरा कार्यकारणी के घोषणा होखे के संभावना जतावल गइल । अध्यक्ष के रूप मे दोबारा से चुनाइल श्री विवेक गोयल जी आश्वासन दिहने कि पूरे तागत से…

Read More