भाजपा एंटी ब्लैक मनी डे मनाई

8 नवंबर के  नोटबंदी के  पहली बरसी पर विपक्ष के ‘काला दिवस’ मनावे  के ऐलान के बाद भाजपा उनही के अंदाज में जवाब देवे के कइलस । विपक्षी दलन के  जवाब देवे खातिर  भाजपा ने 8 नवंबर के  ‘एंटी ब्लैक मनी डे’ मनावे के ऐलान कइलस । केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली बुधवार के प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहलन कि ‘भाजपा 8 नवंबर के  देशभर में एंटी ब्लैकमनी डे ममनाई ।’ उ इहों कहने कि कांग्रेस के लग्गे सत्ता में के ढेर मोका रहल बाकि  कांग्रेस कबों  काला  धन के खिलाफ…

Read More

गुजरात में होखे जा रहल विधानसभा चुनाव के तारीख के घोषणा भइल

निर्वाचन आयोग गुजरात में होखे जा रहल विधानसभा चुनाव के तारीख के घोषणा कर दीहलस । पहिलका  चरण के  चुनाव 9 दिसंबर (89 विधानसभा सीट खातिर) आउर  दूसरका चरण के  चुनाव 14 दिसंबर (93 विधानसभा सीट खातिर) के होई । गुजरात आउर  हिमाचल प्रदेश के वोटन के गिनती 18 दिसंबर के  होखी । प्रेस कान्फ्रेंस में मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार ज्योति कहलन कि गुजरात चुनाव में एह बेरी 50,128 पोलिंग स्टेशन बनावल  गयाल बाटे । एकरे संगे अजूवे से राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू हो गइल बिया । पोलिंग…

Read More

उदास हो गइल ठुमरी

प्रख्यात शास्त्रीय गायिका पद्मविभूषण गिरिजा देवी के  जनम आठ मई, 1929 के ओह घरी के  बनारस के सकलडीहा  (एह घरी  चंदौली जिला ) के एगो  गांव में पारंपरिक हिंदू परिवार में भइल रहे । ऊ अपने माई – बाबूजी आउर दू गो बड़ बहिन लोग के संगे रहत रहनी ।  जब ऊ दू बरिस के रहनी तबे उनकर माई – बाबूजी अपने पूरे  परिवार के संगे बनारस आ गइलन । गंगा के तट पर बसल  बनारस के ऊ  दुनिया क सबसे पुरान  आउर जीवंत शहर मानत रहनी । एकर जिकिर अपने…

Read More

छठ पर्व पर प्रधानमंत्री जी शुभकामना देहने

लोक आस्था के महापर्व आ सामाजिक समरसता के बरत कहाए वाला छठ के शुरुआत हो चुकल बा। प्रकृति आउर सूर्य पूजा के विधान वालाएह महाव्रत में पारंपरिक लोकगीत अवुरी प्रसाद के संगे कठिन तपस्या होले । पहिले बिहार के मगध क्षेत्र से शुरू भईल इ त्योहार मुख्य रूप से बिहार, झारखंड अवुरी उत्तर प्रदेश के पूर्वी इलाका में मनावल जात रहे , बाकि  आज दिल्ली, मुंबई अवुरी कोलकाता के संगे संगे विदेशो मे ई महोत्सव ज़ोर-शोर से मनावल जाये लगल बा । एह मोका प प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री…

Read More

छठी मईया गीत

छठी मईया सुनलिहीई अरजियाआऽऽ, करतनी निहोरा बारम्बार! केकरा से कहिई ऐ माई होऽऽ आपन करेजवा के दुःखवाऽऽ , तूहे त माई हऊ हमार !   रउवा द्वारे खड़ा बिया एगो बाझिन , खोली देहूँ न केवार ! देही दीही न एगो हमरो के लड्डु गोपाल होऽऽ हरीअर होजाईई कोखऽ हमार !   देखी ऐ छठी मईया तनवा मारी ..मारी , हमरा पे ई हँसेलाआऽ ई जग संसार ! सुनाऽऽ बांटे हमार अंगनाऽऽ सुखल बा अँचराआऽऽ , माई हमरो के कोई कहे , किलकारी से गूंजे हमरो दुवार !   हमहुं…

Read More

हाली-हाली उग ये अदितमल

भारत के धरती तीज आ त्योहारन  के धरती ह । इहवाँ हर मौसम मे कवनों ना कवनों त्योहार पड़बे करेला । देवारी के बीतते आउर भाई दूज के बाद सगरो छठ परब के तैयारी चले लगेला । छठ बरत भगवान सूर्य के समर्पित एगो अइसन बरत ह जवन शुद्धता , स्वछता आउर पवित्रता के संगे मनावल जाला । जइसे – जइसे छठ बरत के दिन नीयरे आवेला , जेहर देखीं, ओहरे छठ के तइयारी शुरू होत दिखाई देवे लगेला । छठ के बाति के साथे अपने सभ्यता-संस्कारन के झलक उभरे…

Read More