गणेश वंदना

आवऽ आवऽ हों गणेश।

माँई संग गऊरा, पिताजी उमेश उमेश ।।

मानुष के तन बाँटे, हथिया के मुँहवा…

बाबाजी गणेश के, सवारी सुचि चुहवा ….

बिघ्न हरेले बाबा, सगरो कलेश।

आवऽ आवऽ ………………….उमेश।।

गणपति बाबा हई ,सुमंगलकारी…

एकबेर सुनली बाबा अरज हमारी…

दरशन देदीना, धरी कवनो भेष।

आवऽ आवऽ………………उमेश।।

एकदंत मुख, गजलम्बोदर…

सुन्दर तिलक ललाट पर शोभत…

लड्डूआ त चढ़े, बाबाजी के भेंट।

आवऽ आवऽ……………..उमेश।।

सुर नर मुनि गाँवे, राऊर गुणगनवा….

सब देवतन से पहिले, होखेला पूजनवा…

धरती गगन पूजें, पूजेंले सुरेश।

आवऽ आवऽ.. ………….उमेश।।

 

  • सुनील कुमार दुबे

डेमुसा दुबौली

घांटी,देवरिया

उत्तर प्रदेश

 

Related posts

One Thought to “गणेश वंदना

  1. Sunil Kumar Dubey

    Jay bhojpuri

Leave a Comment