आव भोजपुरी बचावल जाव

आव भोजपुरी बढ़ावल जाव

अलख घरे-घरे जगावल जाव

घऱे-घरे बोलल, जाव भोजपुरी

आउर बतिआवल जाव भोजपुरी

दुआ सलाम सबसे करावल जाव

अलख घरे-घरे…………

 

जन आन्दोलन अब बावे जरुरी

तबही नेता लोग करिहे जीहजूरी

नई पीढ़ी के भाषा सिखावलजाव

अलख घरे-घरे…………

 

वोट दिआई ओके जे आगे आई

भोजपुरी के बात संसद मेंउठाई

निमन के अगुआ बनावल जाव

अलख घरे-घरे…………

 

होई बहिस्कार अब नेता समाजसे

वादा खिलाफी जे करी अब समाजसे

लाल अब ओके भगावल जाव

अलख घरे-घरे…………

 

  • लालबिहारी लाल

बदरपुर,नई दिल्ली-110044

ईमेल- lalkalamunch@rediffmail.com

Related posts

Leave a Comment